राष्ट्रगान के दौरान क्यों रोने लगे थे मोहम्मद सिराज, किया खुलासा

0
2661
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गुरूवार को तीसरे टेस्ट मैच की शुरुआत से पहले राष्ट्रगान के दौरान भावुक होने वाले भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने कहा कि उनके पिता उन्हें भारत की ओर से टेस्ट क्रिकेट खेलते हुए देखना चाहते थे इसलिए राष्ट्रगान के दौरान उन्हें अपने पिता की याद आ गयी और वह भावुक हो गए। सिराज ने सिडनी टेस्ट में पहले दिन के खेल के बाद नवदीप सैनी के साथ जोड़ी को लेकर कहा, ‘‘मैंने और सैनी ने इंडिया ए की ओर से काफी मैच साथ में खेले हैं इसलिए हम दोनों के बीच तालमेल बहुत ही बेहतर है।
हमने घरेलू क्रिकेट जैसी रणनीति अपनाते हुए गेंदबाजी करने की कोशिश की और कसी हुई गेंदबाजी कर विपक्षी टीम पर अधिक से अधिक दबाव बनाने का प्रयास किया।’’ सैनी ने इस मैच से अपना टेस्ट पदार्पण किया जबकि सिराज ने मेलबोर्न में दूसरे बॉक्सिंग डे टेस्ट में अपना पदार्पण किया था। पहले दिन के खेल में विकेटकीपर ऋषभ पंत के दो कैच छोड़ने पर तेज गेंदबाज ने कहा, ‘‘यह खेल का हिस्सा है और कभी-कभी कैच छूटते हैं। गेंदबाज कुछ समय के लिए निराश अवश्य होता है लेकिन पिछला सबकुछ भूलकर दोबारा गेंदबाजी करता है।’’
उल्लेखनीय है कि पंत ने सलामी बल्लेबाज विल पुकोवस्की को दो बार जीवनदान दिया जिसका फायदा उठाकर पदार्पण मैच खेल रहे पुकोवस्की ने अर्धशतक (62) बना डाला। सिराज ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट में गेंदबाज का संयम रखना काफी महत्वपूर्ण माना जाता है और अलग-अलग मैचों में पिच अलग-अलग होती है इसलिए गेंदबाज को इस बात पर ध्यान रखना चाहिए कि एक जगह पर अधिक से अधिक गेंद डालकर बल्लेबाज को परेशान किया जाए और उस पर दबाव बनाया जाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here