गेंदबाजों ने एक बार फिर निराश किया: कप्तान कोहली

0
1337
ऑस्ट्रेलिया के हाथों रविवार को दूसरे वनडे में मिली करार हार और सीरीज गंवाने के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि मुकाबले मे टीम की गेंदबाजी प्रभावशाली नहीं रही। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के विस्फोटक प्रदर्शन की बदौलत 50 ओवर में चार विकेट पर 389 रन का विशाल स्कोर बनाया जिसके जवाब में भारतीय टीम 50 ओवर में नौ विकेट पर 338 रन ही बना सकी और उसे 51 रन से हार का सामना करना पड़ा। इस हार के साथ ही भारतीय टीम तीन मैचों की सीरीज में 0-2 से पिछड़ गयी। विराट ने मैच के बाद कहा, ‘‘हमारा प्रदर्शन बेहद खराब रहा।
मेरे ख्याल से हमारी गेंदबाजी प्रभावशाली नहीं रही। जिस क्षेत्र में गेंद डालनी चाहिए थी गेंदबाज वहां गेंद डालने में विफल रहे। ऑस्ट्रेलिया की बल्लेबाजी बेहद मजबूत है और इन्हें पता है कि कहां शॉट खेलने है। उन्होंने जो स्कोर खड़ा किया वो काफी विशाल था इसलिए 338 रन बनाने के बावजूद हमें 51 रन से पराजय झेलनी पड़ी। उन्होंने सही क्षेत्र में गेंदबाजी की और मौके भुनाए जिसके कारण उनका प्रदर्शन शानदार रहा।’’
तेज गेंदबाजों जसप्रीत बुमराह ने 10 ओवर में 79 रन, मोहम्मद शमी ने नौ ओवर में 73 रन ,नवदीप सैनी ने सात ओवर में 70 रन, लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने नौ ओवर में 71 रन और लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने 10 ओवर में 60 रन लुटाये। हार्दिक पांड्या ही भारतीय गेंदबाजों में बेहतर साबित हुए और उन्होंने चार ओवरों में 24 रन देकर एक विकेट लिया।
हार्दिक पांड्या को गेंदबाजी कराने पर विराट ने कहा, ‘‘मेरे ख्याल से इस पिच पर गेंदबाजी के लिए उन्होंने कुछ योजना बनायी थी। लक्ष्य के बारे में लोकेश राहुल और मैंने सोचा कि अगर अंतिम 10 ओवर में 100 रन भी चाहिए होंगे तो हार्दिक के रहने से हम लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं। अगर मैं और राहुल 40 ओवर तक टिके रहते तो हम विपक्षी टीम पर दबाव बना सकते थे। बल्लेबाजी के लिए यह विकेट काफी अच्छा था।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here