त्रिपुरा की दो लड़कियों से सामूहिक दुष्कर्म, त्रिपुरा-असम सीमा पर तनाव

0
952

असम-अगरतला राष्ट्रीय राजमार्ग पर खाली इमारत में शनिवार की देर रात उत्तरी त्रिपुरा की दो लड़कियों के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने तथा इस मामले में दक्षिण असम के निलामबाजार के सात युवकों को गिरफ्तार किये जाने के बाद दोनों राज्यों के सीमावर्ती इलाकों में तनाव व्याप्त हो गया है। इस घटना की पीड़ितों ने अपराधियों के खिलाफ असम पुलिस एवं ग्रामीणों की ओर से की गई तत्परतापूर्ण भूमिका पर संतोष व्यक्त किया है। लड़कियों को मेडिकल जांच और इलाज के बाद छोड़ दिया गया। दोनों लड़कियों के साथ उस समय सामूहिक दुष्कर्म किया गया जब वे सिल्चर के काचर कैंसर अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र में भर्ती अपने रिश्तेदारों को देखने के बाद उत्तरी त्रिपुरा के धरमनगर लौट रही थीं। करीमगंज के बराईग्राम के युवकों के एक समूह ने लड़कियों के साथ कथित रूप से दुष्कर्म किया। पीड़ितों के मुताबिक उन्होंने धरमनगर जाने के लिए सेंट्रों कार किराये पर ली थी। करीमगंज में रात का खाना खाने के बाद कार चालक ने राष्ट्रीय राजमार्ग से जाने के बजाय शॉर्ट कट मार्ग को चुना। दोनों को पास के एक निर्माणाधीन इमारत में ले जाया गया जहां चार लोग इंतजार करते पाये गये। लड़कियों के साथ बारी-बारी से दुष्कर्म करने के बाद सभी आरोपी भाग गये।
पीड़िता अगले दिन सुबह पाथरकंडी थाना पहुंचीं।

 

पुलिस ने उनकी शिकायत पर तत्परता से कार्रवाई करते हुए अब्दुल अहद को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उससे पूछताछ के आधार पर छह अन्य आरोपियों अहद उद्दीन, समसुल उद्दीन, अबू बक्कर, आमिर अली, अनवर हुसैन और सुमोन अली को गिरफ्तार कर लिया है। इस घटना के बाद त्रिपुरा के ग्रामीण उग्र हो उठे और उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग समेत विभिन्न मार्गाें से आने वाले असम के लोगों के आवागमन पर रोक लगा दी। बराक घाटी में निर्माण कार्याें से जुड़े मुस्लिम समुदाय के लोगों को इलाका छोड़ जाने को कहा गया है। पुलिस का दावा है कि तनाव को कम करने के लिए आवश्यक कदम उठाए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here