जूते और किताबें बेचते-बेचते नकली नोट छापने लगे दो दोस्त, पुलिस भी हैरान-यूट्यूब से सीखते थे नोट की प्रिंटिंग के बारे में

0
353

बठिंडा सीआइए स्टाफ वन की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर हरियाणा के डबवाली शहर निवासी दो दोस्तों को साढ़े नौ लाख रुपये की नकली करंसी समेत गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान डबवाली हरियाणा निवासी पंकज कुमार व वार्ड नंबर 16 ट्रस्ट पार्क वाली गली मंडी डबवाली हरियाणा निवासी सोनू कुमार के तौर पर हुई। पकड़े गए दोनों आरोपियों से पुलिस ने नोट छापने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला एक कलर प्रिंटर भी बरामद किया है।

 

पुलिस के मुताबिक पकड़े गए आरोपियों ने दस दिन पहले ही यह काम यूट्यूब पर देखकर शुरू किया था, चूंकि पकड़े गए एक आरोपी पंकज कुमार पर करीब सात लाख रुपये का कर्ज था और उसने कर्ज उतारने के लिए यह रास्ता अपनाया। उसने अपने दोस्त सोनू के साथ मिलकर घर में ही नकली नोट छापने शुरू कर दिए। एसपी गुरबिंदर सिंह संघा ने बताया कि उक्त लोग फिलहाल दुकानों व पंट्रोल पंपों पर छोटी संख्या में नकली करंसी चला रहे थे। अब तक वह मार्केट में करीब 15 हजार रुपये की करंसी चला चुके हैं, जबकि बाकी करंसी इन्होंने त्योहारी सीजन में चलानी थी। नकली करंसी चलाने का तरीका यह था कि किसी को दो हजार रुपये देने हैं, तो उसमें 500 रुपये के नकली नोट शामिल कर देते थे। एसपी संघा का दावा है कि इन लोगों ने किसी आपराधिक व्यक्ति को नकली करंसी सप्लाई नहीं की है, लेकिन फिर भी पुलिस ने आरोपियों का पुलिस रिमांड लेकर पूछताछ कर रही है, ताकि पता चल सके कि अब तक इन्होंने किन-किन लोगों को करंसी सप्लाई की है और आगे किस-किस को करनी थी। सीआइए स्टाफ वन के इंचार्ज इंस्पेक्टर अमृतपाल सिंह भाटी ने बताया कि पकड़े गए दोनों आरोपियों पर पहले कोई भी मामला दर्ज नहीं है, लेकिन आरोपित सोनू पर कर्ज होने के कारण उसने यह रास्ता अपनाया। इंस्पेक्टर भाटी ने बताया कि आरोपी पंकज डबवाली के बस स्टैंड पर धार्मिक बुक शाप चलाता है, जबकि आरोपी सोनू जूते बनाने का काम करता है।

दोनों आपस में दोस्त होने के कारण उन्होंने कर्ज उतराने के लिए यह तरीका अपनाया। उन्होंने बताया कि नोट छपाने के लिए यह लोग आनलाइन एक वेबसाइट से पेपर मंगवाते थे। नोट किस प्रकार छपते हैंं, इसकी ट्रेनिंग उन्होंने यूट्यूब पर ली। एसपी संघा ने बताया कि बीती छह नवंबर को सीआइए इंचार्ज इंस्पेक्टर अमृतपाल सिंह भाटी अपनी टीम के साथ गांव डूमवाली में मौजूद थे। इस दौरान पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि डबवाली निवासी सोनू व पंकज नकली करंसी बनाने का काम करते हैं, जो कि पंजाब की सीमा पारकर बठिंडा की तरफ आ रहे हैं। सूचना के आधार पर पुलिस टीम ने दोनों आरोपितों के खिलाफ थाना संगत में केस दर्ज कर गांव डूमवाली की रेलवे क्रासिंग के पास से पैदल गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने पंकज से दो लाख रुपये व सोनू से 1.20 लाख रुपये की नकली करंसी मौके पर जब्त की गई, जबकि उनकी निशानदेही पर आरोपित पंकज के घर से एक कलर स्कैनर कम प्रिंटर व 3.30 लाख रुपये व आरोपित सोनू के घर से 3 लाख रुपये के और नकली करंसी बरामद की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here