केसर खाने के हैं कई फायदे, पर इन साइड इफेक्ट को भी आप नहीं कर सकते नजरअंदाज

0
44

केसर एक विशेष प्रकार का मसाला है जो अपनी रंग खुशबू और अपने औषधीय गुणों के लिए काफी फेमस है। यह बेहद कम जगहों पर पाया जाता है और काफी महंगा होता है। इसे कोई मीठी रेसिपी बनाने में इस्तेमाल किया जाता है जिससे उस रेसिपी का स्वाद चौगुना बढ़ जाता है। इसके अलावा दूध में भी केसर डाल कर पीने का चलन है जो स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है। रोजाना केसर दूध पीने से कई तरह की बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। आज हम केसर खाने के फायदे और नुकसान के बारे में बात करेंगे-

केसर के फायदे

  • केसर के सेवन से वजन कम होता है। केसर का सेवन करने से आपके बार-बार भूख लगने की इच्छा पर कंट्रोल होता है। ऐसे में आपको बार-बार खाने की जरूरत नहीं पड़ती जिसके कारण आपका वजन नहीं बढ़ता है। यह तनाव से भी हमें दूर रखता है।
  • केसर त्वचा व बालों के लिए भी है बेहद फायदेमंद। केसर वाला फेस पैक लगाने से त्वचा ग्लो करने लगती है। केसर हमारी त्वचा को टैनिंग व मुंहासो से लड़ने में मदद करती है। इसके इस्तेमाल से त्वचा मुलायम और चमकदार होती है।
  • पीरियड्स से पहले होने वाले दर्द से भी केसर राहत दिलाता है। पीएमएस यानि प्री मेन्सट्रुअल सिंड्रोम के लक्षणों को भी कम करने में मदद करता है केसर। जैसे पेट दर्द, सिर दर्द, मूड स्विंग जैसी समस्याओं से राहत दिलाता है। 
  • केसर खाने से शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। इसमें विटामिन सी भी पाया जाता है जिससे हमारा शरीर कई तरह की बीमारियों से लड़ने में मददगार होता है।
  • केसर का सेवन पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। इसमें औषधीय यौगिक और anti-convulsant गुण होते हैं। यह आपके लीवर को मजबूत और बेहतर काम करने में मदद करता है। केसर में अधिक मात्रा में आयरन भी पाए जाते हैं, जिसकी मदद से हीमोग्लोबिन बढ़ता है।
  • प्रेग्नेंट महिलाओं को डिलीवरी का टाइम आते-आते पेट में दर्द होने लगता है। गर्भ में पल रहे बच्चे में कई प्रकार के बदलाव होते हैं जिसके कारण शरीर में भी बदलाव होने लगते हैं इससे दर्द होता है। ऐसे में केसर का सेवन इस दर्द से राहत दिलाता है और आराम देता है।
  • आर्थराइटिस के इलाज में भी केसर फायदेमंद होता है।

केसर के साइड इफेक्ट

  • प्रेग्नेंसी में केसर का सेवन करने के कई साइड इफेक्ट भी हैं। कुछ महिलाओं का प्रेग्नेंसी के दौरान केसर खाने से जी मिचलाने लगता है और उनका मुंह सूखने लगचा है। उन्हें बेचैनी सा एहसास होने लगता है। बार-बार उल्टियां आती है और आपने जो पोषक तत्व से भरपूर फूड प्रोडक्ट खाए हैं वो सब बाहर आ जाता है जिससे आपको कमजोरी लगने लगती है।
  • इसकी तासीर गर्म होती है। इसके सेवन करने से शरीर में गर्मी बढ़ जाती है जिससे गर्भाशय पर भी इसका असर पड़ने लगता है। इसलिए डॉक्टर भी सलाह देते हैं कि प्रेग्नेंसी के शुरुआती दिनों में केसर खाने से परहेज करना चाहिए इससे मिसकैरेज होने का खतरा रहता है।
  • लीवर, किडनी, बोन मैरो की बीमारी से जूझ रहे मरीजों को केसर का सेवन नहीं करना चाहिए यह उनके लिए खतरनाक साबित हो सकता है।
  • इनसोमनिया यानि अनिद्रा को भी दूर करने में केसर मददगार होता है। इसमें पाया जाने वाला क्रोसिन आंखों की नॉन रैपिड गति को कम करता है जो अच्छी नींद लाने में मदद करता है। नींद ना आने की वजह से कई बीमारियां भी होती है केसर खाने से इनका खतरा भी कम हो जाता है।
  • यह दिमाग को स्वस्थ रखता है साथ ही याद्दाश्त को भी बढ़ाता है। अल्जाइमगर के मरीजों के लिए केसर काफी फायदेमंद होता है। इसके अलावा सिजोफ्रेनिया से ग्रसित मरीजों के लिए भी केसर काफी फायदेमंद होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here