मोबाइल फोन भी कोरोना वायरस को फैलाने में मददगार, डॉक्टरों ने दी चेतावनी

0
10

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान रायपुर (AIMS Raipur) के डॉक्टरों के एक ग्रुप ने कोविड-19 महामारी (COVID-19 pandemic) के बीच स्वास्थ्य संस्थानों में मोबाइल फोन (Mobile Phone) के इस्तेमाल पर पाबंदी की अनुशंसा करते हुए चेतावनी दी है कि ऐसे उपकरण वायरस के वाहक हो सकते हैं और स्वास्थ्यकर्मियों को संक्रमित कर सकते हैं।

बीएमजे ग्लोबल हेल्थ जर्नल में प्रकाशित एक लेख में डॉक्टरों ने कहा कि मोबाइल फोन की सतह एक विशिष्ट ‘उच्च जोखिम’ वाली सतह होती है जो सीधे चेहरे या मुंह के संपर्क में आती है, भले ही हाथ अच्छे से धुले हुए क्यों न हों। उन्होंने यह भी कहा कि एक अध्ययन के मुताबिक, कुछ स्वास्थ्यकर्मी हर 15 मिनट से दो घंटे के बीच अपने फोन का इस्तेमाल करते हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और सीडीसी (CDC) जैसे विभिन्न स्वास्थ्य संगठनों की तरफ से कई महत्वपूर्ण दिशानिर्देश हैं जिनमें बीमारी की रोकथाम और नियंत्रण के उपाय निहित हैं। जर्नल में प्रकाशित इस लेख में यह बात रेखांकित करते हुए कहा गया है कि ‘इन दिशानिर्देशों में मोबाइल फोन के इस्तेमाल का कोई जिक्र या उल्लेख नहीं है, डब्ल्यूएचओ के संक्रमण नियंत्रण एवं रोकथाम दिशानिर्देश में भी नहीं जिसमें हाथ धोने की अनुशंसा की गई है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here