IPL में कायम रहेगा रॉयल चैलेंजर्स के कप्तान कोहली का विराट रिकॉर्ड

0
282

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली को चेन्नई सुपर किंग्स के ऑलराउंडर सुरेश रैना के आईपीएल छोड़कर स्वदेश लौट जाने का फायदा मिलेगा और उनका इस टी-20 टूर्नामेंट में सर्वाधिक रनों का रिकॉर्ड कायम रहेगा। बेंगलुरु ने बेशक आईपीएल के 12 सत्रों में एक बार भी खिताब नहीं जीता है लेकिन उसके कप्तान और भारतीय रन मशीन विराट ने आईपीएल में 177 मैचों में 37.84 के औसत और 131.61 के स्ट्राइक रेट से 5412 रन बनाए हैं जो आईपीएल में सर्वाधिक हैं।

विराट के आईपीएल के सर्वाधिक रनों के रिकॉर्ड को सबसे नजदीकी चुनौती रैना से मिल रही थी जिन्होंने 193 मैचों में 5368 रन बनाए थे। विराट और रैना के बीच मात्र 44 रनों का फासला था लेकिन रैना ने निजी कारणों से आईपीएल छोड़ने का फैसला किया और यूएई से वापस भारत लौट गए।

रैना यदि आईपीएल-13 में खेलते तो उनके और विराट के बीच टूर्नामेंट में सर्वाधिक रनों के रिकॉर्ड के लिए नजदीकी मुकाबला चलता रहता। लेकिन रैना के लौटने के बाद अब विराट के रिकॉर्ड को कोई खतरा नहीं रह गया है क्योंकि तीसरे नंबर पर मौजूद मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा और विराट के बीच 514 रनों का लंबा फासला है।

रोहित ने टूर्नामेंट में 188 मैचों में 4898 रन बनाए हैं। सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान ऑस्ट्रेलिया के डेविड वार्नर ने 126 मैचों में 4706 रन, दिल्ली कैपिटल्स के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने 159 मैचों में 4579 रन, किंग्स इलेवन पंजाब के सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल ने 125 मैचों में 4484 रन और चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 190 मैचों में 4432 रन बनाए हैं।

विराट के पास आईपीएल-13 में छक्कों का दोहरा शतक पूरा करने का भी मौका रहेगा। आईपीएल में अब तक यह कारनामा तीन ही खिलाड़ी कर पाए हैं। क्रिस गेल ने आईपीएल में 326 छक्के, बेंगलुरु के एबी डीविलियर्स ने 154 मैचों में 212 छक्के और धोनी ने 209 छक्के उड़ाए हैं। यदि रैना इस बार आईपीएल खेलते तो वह भी छक्कों का दोहरा शतक पूरा कर सकते थे।

मुंबई के कप्तान रोहित के पास टूर्नामेंट में तीन व्यक्तिगत उपलब्धियां हासिल करने का सुनहरा मौका रहेगा। रोहित ने अबतक 188 मैच खेले हैं और वह लीग दौर में ही 200 मैच पूरे कर लेंगे। इसके अलावा उन्हें टूर्नामेंट में पांच हजार रन पूरे करने के लिए मात्र 102 रन की जरुरत है। रोहित को टूर्नामेंट में छक्कों का दोहरा शतक पूरा करने के लिए छह छक्कों की जरुरत है।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके और तीन बार के आईपीएल विजेता धोनी भी इस टूर्नामेंट में 200 मैच पूरे कर लेंगे। लीग दौर में 10वां मैच खेलने के साथ ही धोनी के 200 मैच पूरे हो जाएंगे। उन्होंने अबतक 190 मैच खेले हैं। हैदराबाद के कप्तान वार्नर के पास भी टूर्नामेंट में पांच हजार रन पूरे करने का मौका रहेगा जिससे वह 294 रन दूर हैं।

200 छक्के पूरे करने की होड़ में ऑस्ट्रेलिया के वार्नर और शेन वाटसन तथा वेस्टइंडीज के कीरोन पोलार्ड भी शामिल रहेंगे। हैदराबाद के वार्नर ने अबतक 126 मैचों में 181 छक्के, चेन्नई के वाटसन ने 134 मैचों में 177 छक्के और मुंबई इंडियंस के पोलार्ड ने 148 मैचों में 176 छक्के उड़ाए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here