20 किलो नमक छिड़क बेडरूम में गाड़ दी लाश, 115 दिन बाद मिले कंकाल !

0
83

मेरठ के भूड़बराल गांव से सामने आए ‘लव जिहाद’ के मामले में रोज नए खुलासे हो रहे हैं। अमित बनकर महिला से शादी करने वाले शमशाद ने पहले मां-बेटी की हत्या की, फिर इसके बाद 20 किलो नमक के साथ दोनों के शवों को बेडरूम में गड्ढा खोदकर गाड़ दिया। 115 दिन बाद मां बेटी के कंकाल बरामद हुए हैं। हिंदू संगठन के लोगों के हंगामे के बाद ही पूरा मामला खुलकर सामने आया। शमशाद प्रेमिका और उसकी मासूम बच्ची की हत्या करने के बाद कोई भी सुबूत नहीं छोड़ना चाहता था। इसके लिए उसने लाशों पर नमक छिड़क दिया ताकि वे गल जाएं। आखिर वैसा ही हुआ। पुलिस ने जब ड्रॉइंगरूम में जमीन खुदवाई तो सिर्फ कंकाल बरामद हुए। उन्हें डीएनए जांच के लिए भेजा गया है जिससे मुकदमे को कानून तौर पर मजबूती मिल सके।

प्लॉट खरीदने को लेकर भी हुआ था विवाद- परतापुर थाने के इंस्पेक्टर आनंद प्रकाश मिश्र ने बताया कि गांव भूड़बराल निवासी शमशाद, उसकी प्रेमिका प्रिया और बेटी कशिश पिछले पांच साल से साथ रह रहे थे। चार साल तक प्रिया कांशीराम आवासीय कॉलोनी में रही। एक साल पहले ही भूड़बराल वाले घर में आई। प्रिया ने मोदीनगर के गोविंदनगर में एक प्लॉट लिया था। जिसकी कीमत करीब 3 लाख रुपये थी। प्रिया ने कहा कि प्लॉट का सारा पैसा शमशाद देगा। बकौल शमशाद, वह पूर्व में तीस हजार रुपये दे चुका था। 28 मार्च को लेबर का भुगतान करने के लिए वह 2.80 लाख रुपये घर पर लाया। प्रिया चाहती थी कि वह इस पैसे को देकर प्लॉट का बकाया चुकता कर दे। शमशाद ने यह पैसा मजदूरों को देने की बात कही। इसे लेकर दोनों में विवाद शुरू हुआ।

इंस्पेक्टर के अनुसार, पैसे को लेकर दोनों में लड़ाई बढ़ गई। हाथापाई में प्रिया का नाखून शमशाद के मुंह पर लग गया। इसके बाद वह किचन से चाकू निकाल लाई। हमले में शमशाद के हाथ की कलाई कट गई। गुस्से में शमशाद ने दाहिने हाथ से प्रिया का गला दबा दिया। वह मौके पर ही मर गई। इसके बाद शमशाद ने बेडरूम में सो रही मासूम बच्ची कशिश की भी गला दबाकर हत्या कर दी। वारदात 28 मार्च की रात करीब 12 बजे हुई। लॉकडाउन की वजह से घर में ही गाड़ दिए शव लॉकडाउन के चलते कहीं बाहर नहीं ले जा सकता था लाश 29 मार्च की सुबह शमशाद ने ड्रॉइंगरूम में करीब 8 फीट गहरा गड्ढा खोदा और दोनों लाशों को उसमें डाल दिया। दोनों लाशों पर ऊपर से दुकान से लाए 20 नमक के पैकेट भी खोलकर डाल दिए। जिससे लाश गल जाए। ऊपर से फर्श पर प्लास्टर कर दिया जिससे किसी को शक न हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here